सोमवार, 6 अक्तूबर 2014

नाभि या धरन ठीक करने का मंत्र -2

बहुत से लोग जो नाभि टलने  के रोग से पीड़ित रहते है और बार बार मुझसे धरण /नाभि  ठीक करने के उपाय पूछते है उनके लिए निम्न मंत्र विधि दे रहा हु प्रयोग करे और लाभ उठाएं । 


मंत्र संख्या -2 

ॐ  नमो नाड़ी नाड़ी नौ सै बहत्तर सौ कोस चले अगाडी डिगे न कोण चले न नाड़ी रक्षा करे जति हनुमंत की आन मेरी भक्ति गुरु की शक्ति फुरो मंत्र ईश्वरोवाचा । 

विधि :- इस मंत्र को ग्रहण , दिवाली की महानिशा बेला में धुप दीप देकर  108 जप करके सिद्ध करले ।  कच्चे सूत के धागे में 9 गांठ लगाले उसे छल्ले की भांति बनाले उसे रोगी की नाभि पर रखकर इस मंत्र को 108 बार पढ़ते हुए नाभि के ऊपर फूक मारने से धरण ठिकाने पर आ जाती है । 

6 टिप्पणियाँ:

RamPhool Bhardwaj ने कहा…

asa karne se thik hota he to bahut badiya he .aapka bahut 2 danywad kerpa ase hi hamara gyan bdhaye thankyou

pankaj sisodiya ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
Unknown ने कहा…

Meri umar 15 sal hai mene ek bar jyada vjan utaya uske bad se meri nabhi tal rahi hai aap mujhe koi asa mantra bateye jise sirf bole se meri nabhi thik ho jaye phir kabh nahi tale please

Unknown ने कहा…

ok check it

Unknown ने कहा…

Mera naam yogesh hai 2 saal se.naabhi ke Karan parshan hu koi upaye baytaye

Unknown ने कहा…

mera maam vipan hai meri nabhi bady dino se talli huwi hai koi upye daso

एक टिप्पणी भेजें