रविवार, 15 दिसंबर 2013

श्याम्कौर मोहिनी साधना


श्याम्कौर मोहिनी का नाम सुनते ही बड़े बड़े साधक कांप जातें है । इस सिद्धि की मदद से आप घर बैठे बैठे
किसी की भी खबर माँगा सकते हैं । किसी का भी वशीकरण कर सकते हैं । इस प्रकार का प्रयोग अधिकतर
नाथ संप्रदाय में परचलित है । 

 विधि 

इस मंत्र को घर से बहार किसी नदी के किनारे सिद्ध करें । वस्त्र कोई भी पहन सकते हैं । किसी भी प्रकार के आसन का इस्तेमाल कर सकते हैं । दिशा का भी कोई बंधन नहीं । अपने साथ दो लड्डू, दो मीठे पान, सात पतासे और मीठे चावल, एक शराब की बोतल, एक दीपक और सरसों का तेल साथ ले जायें । सबसे पहले चावल नदी में प्रवाहित कर दें और सात बार नीचे दिये गए मंत्र का जाप करें ।
मंत्र :- खवाजा खिजर जिन्दा पीर, पंजे पीर तेरे मदद्गिर सिद्धा नाथा दा सरदार कचिया पाकिया कडाहिया तेरे नाम ॥

मंत्र जाप के बाद खवाजा खिजर से आज्ञा ले और आसन पर बैठने से पहले अपने चारोँ तरफ एक गोला खींचे । गोला खींचते समय नीचे दिये गए मंत्र का 11 बार जाप करें ॥
मंत्र :- आस किलूँ पास किलूँ किलूँ अपनी काया जगदा मसान किलूँ बैठी किलूँ छाया इसर का कोट वर्मा 

क़ि थाली मेरे घाट पिंड का हनुमान वीर रखवाला ॥

इसके बाद गुरु पूजन गणेश पूजन करें और उनसे आज्ञा लें । फिर कोई भी रक्षा मंत्र जप लें । फिर रुद्राक्ष
क़ि माला से एक माला शिवमंत्र क़ि जपें और शिव से आज्ञा ले । फिर दो लड्डू, पान, पतासे किसी कागज़
के टुकड़े पर रखिएँ और तेल का दीपक जलाएं । शराब से उसके चारोँ तरफ एक गोला बनाएं और बची हुई शराब की बोतल पास में रख दें और 11 माला इस मंत्र क़ि जपें ॥
मंत्र :- आई रे श्याम्कौर कहाँ से, आई बागड़ देश से, आई उड़न खटोला उडदी आई, लाल परांदा उडदी आई हंकारी, आई पश्कारी जाई, मेरा कारज न करें तैनू तेरे गुरु दी आन! ॥

ये ही क्रिया आपको 41 दिन करनी है ।

अंतिम दिन माता को 16 सिंगार चढ़ाएं । लगभग 15 दिन बाद ही आपको ऐसा नज़र आने लगेगा क़ि
मोर पर सवार एक बहोत सुंदर स्त्री आसमान से निचे उतर रही है ।  जाप पूरा होने से पहले किसी भी हालत में गोले से बहार न आये । कई बार कुछ डरावने अनुभव होते हैं । जब अंतिम दिन देवी प्रत्यक्ष हों उनसे सदेव माता रूप में साथ रहने का बचन ले ले । जब कोई विशेष काम हो तो एक माला मंत्र की जपें देवी प्रकट हो जाएगी । अगर इस मंत्र का जाप किसी क़ि तस्वीर के आगे रात में किया जाये तो वोह नींद में चलकर आपके पास आ जायेगा । यदि कोई घर से भाग जाये तो उसके कपड़ों पर इस मंत्र का जाप करें 24 घंटे में वोह घर की तरफ वापस लौट आयेगा । मंत्र से अभिमंत्रित सिंदूर मस्तक पर लगाने से देखने वाला मोहित हो जाता है । पर वशिकरण हेतु इसका दुरुपयोग न करें । यह दृष्टी मात्र से
वशिकरण करती हैं । अगर इस मंत्र को जाप कर किसी को देख लिया जाये तो भी वशिकरण होता है । यह
देवी सिद्ध होने के बाद सभी कर्मों में सहायता करती है और हर समय साधक के साथ रहती हैं । पर कमज़ोर दिल वाले लोग इस प्रयोग को कभी न करें ॥

1 टिप्पणियाँ:

Manoj Sharma ने कहा…

ये चूतियापा कहां से सीखा

एक टिप्पणी भेजें