शुक्रवार, 9 सितंबर 2016

देह रक्षा मंत्र

देह रक्षा मंत्र :- ॐ नमो  हनुमान वज्र का कोठा उसमे पिंड हमारा बैठा ।  ईश्वर कुंजी ब्रह्मा ताला मेरे इस पिंड का आठो याम का यति हनुमंत रखवाला । 

प्रयोग विधि :- पहले मंत्र को किसी शुभ मुहूर्त में 108 बार जपकर सिद्ध कर ले फिर जब भी देह रक्षा करनी हो 21 बार पढ़कर अपनी छाती पर फूंक मारे । सभी प्रकार की बाधा से रक्षा होगी । 

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें