शनिवार, 17 जनवरी 2015

इच्छित सौन्दर्य प्रदायिनी माता त्रिपुर सुन्दरी शाबर मन्त्र


ॐ निरन्जन निराकार अवधू मूल द्वार में बन्ध लगाई पवन पलटे गगन 

समाई, ज्योति मध्ये ज्योत ले स्थिर हो भई ॐ मध्या: उत्पन्न भई उग्र 

त्रिपुरा सुन्दरी शक्ति आवो शिवघर बैठो, मन उनमन, बुध सिद्ध चित्त में 

भया नाद | तीनों एक त्रिपुर सुन्दरी भया प्रकाश | हाथ चाप शर धर एक 

हाथ अंकुश | त्रिनेत्रा अभय मुद्रा योग भोग की मोक्षदायिनी | इडा पिंगला 

सुषुम्ना देवी नागन जोगन त्रिपुर सुन्दरी | उग्र बाला, रुद्र बाला तीनों 

ब्रह्मपुरी में भया उजियाला | योगी के घर जोगन बाला, ब्रह्मा विष्णु 

शिव की माता | 

श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं सौं ह्रीं श्रीं कं एईल

ह्रीं हंस कहल ह्रीं सकल ह्रीं सो: 

ऐं क्लीं ह्रीं श्रीं


ये माँ त्रिपुर सुन्दरी का शाबर मन्त्र है एक माला हकीक से सुबह शाम 
करके इच्छित वस्तु समस्त गुणवत्ता के प्राप्त कर सकते है । सौन्दर्यता 
प्रदायिनी देवी माता अपने साधक को रूप,जय,और समस्त बाधाओ से 
मुक्त रखती है । इसे 108 दिन तक करे आपको इच्छित सौन्दर्य प्राप्त 
होगी ।जै माँ विन्ध्यवासिनी 

2 टिप्पणियाँ:

Easy Devine Energy Healinga@kamleshdwivedi64 ने कहा…

Easy, Powerful and best shabar mantra for deveted persons.

Easy Devine Energy Healinga@kamleshdwivedi64 ने कहा…

Easy, Powerful and useful for devoted persons.

एक टिप्पणी भेजें